कुल वेतन बनाम शुद्ध वेतन: विवरण और कैलकुलेशन - Jar App

December 20, 2022
कुल वेतन बनाम शुद्ध वेतन: विवरण और कैलकुलेशन - Jar App

सभी लोग इस बारे में जानते हैं, लेकिन जब बात फाइनेंशियल डॉक्यूमेंट की आती है, तो हम सब परेशान हो जाते हैं। चलिए, कुल वेतन और शुद्ध वेतन के बारे में सबकुछ समझते हैं।

आपने हाल ही में काम करना शुरू किया है और आप नहीं जानते हैं कि महीने के अंत में आपको कितने पैसे मिलेंगे?

चिंता की कोई बात नहीं है। ‍वेतन वह भुगतान है जो आपकी सेवाओं के बदले नियोक्ता से आपको मिलता है।

ये पैसे कुल वेतन कहलाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कुल वेतन और शुद्ध वेतन में क्या अंतर होता है?

कुल वेतन क्या है?

कुल वेतन उन सारे मदों का जोड़ है जो कर्मचारी के तौर पर आपका सैलरी पैकेज तैयार करते हैं।

ये सभी जरूरी और वैकल्पिक कटौतियों जैसे इनकम टैक्स, प्रॉविडेंट फंड, मेडिकल इंश्योरेंस वगैरह के कटने से पहले की कमाई होती है।

 

ओवरटाइम और इंसेंटिव सभी कुछ इस कुल वेतन में जुड़ा होता है।

आपको उन सभी मदों के बारे में विस्तृत जानकारी मिलनी चाहिए, जिनकी जानकारी पे स्लिप पर आपके कुल वेतन और फायदे के तौर पर दी जाती है।

आपके कुल वेतन के मद क्या हैं?

1.    बेसिक सैलरी

2.    महंगाई भत्ता

3.    मकान किराया भत्ता (एचआरए)

4.    वाहन भत्ता

5.    छुट्टी और यात्रा भत्ता

6.    परफॉर्मेंस और स्पेशल भत्ता

7.    अन्य भत्ते

 

सैलरी स्लिप के मदों के बारे में यहां और पढ़ें।

कुल वेतन और शुद्ध वेतन में अंतर:

 

कुल वेतन

कुल वेतन वह रकम है जो आप कर्मचारी के तौर पर बिना किसी कटौती से पहले लेते हैं।

 

इसमें बेसिक वेतन, एचआरए और दूसरे भत्ते शामिल होते हैं।

 

शुद्ध वेतन

शुद्ध वेतन वह राशि है जो कटौती के बाद आपके अकाउंट में आती है।

यह कुल वेतन में इनकम टैक्स, ग्रेचुएटी और प्रॉविडेंट फंड काटने के बाद बचता है।

 

अब कठिन हिस्से पर आते हैं.

 

कुल वेतन को कैसे जोड़ते हैं?

जब आपको सभी जरूरी कम्पोनेंट्स के बारे में सही जानकारी मिल जाती है, तो यह बहुत आसान हो जाता है। इसे उदाहरण के साथ अच्छे से समझते हैं।

 

मान लेते हैं कि आफरीन एक कर्मचारी है। आफरीन एक आईटी फर्म में काम करती हैं, यह उनका सैलरी स्ट्रक्चर है:

 

सैलरी कॉम्पोनेंट

बेसिक सैलरी

यात्रा भत्ता

मकान किराया भत्ता (एचआरए)

मेडिकल भत्ता

छुट्टी भत्ता

प्रॉविडेंट फंड योगदान

ग्रेचुएटी

राशि (सालाना INR)

₹500000

₹50000

₹45000

₹45000

₹60000

₹84000

₹29629

 

 

तो कुल वेतन के फ़ॉर्मूला के हिसाब से यह है:

 

 

कुल वेतन= बेसिक सैलरी+ एचआरए+अन्य भत्ते

 

कुल वेतन = ₹5,00,000 + ₹45,000 + ₹1,55,000

 

कुल वेतन = ₹7,00,000

 

आफरीन का कुल वेतन है ₹7,00,000।

 

शुद्ध वेतन कैसे जोड़ें

 

शुद्ध वेतन का फ़ॉर्मूला है:

शुद्ध वेतन = कुल वेतन - सभी कटौती (इनकम टैक्स, पीएफ, ग्रेचुएटी वगैरह)

 

आफरीन के सैलरी स्ट्रक्चर के आधार पर वह 10% के टैक्स स्लैब के अंतर्गत आती हैं। जो ₹ 5,00,000 से ₹7,50,000 वेतन की सीमा वाले कर्मचारियों के लिए है।

इस तरह उन पर  ₹33,637 का टैक्स लगेगा।

 

अब उनकी शुद्ध सैलरी होगी:

शुद्ध वेतन =  7,00,000 - 33,637 - 84,000 - 29,629 = ₹5,52,734

 

इस तरह आप अपने कुल और शुद्ध वेतन को जोड़ सकते हैं। इसमें नंबर के साथ थोड़ा काम करना होता है, लेकिन इसमें परेशान होने जैसा कुछ नहीं है।

‍आपको सिर्फ यह फ़ॉर्मूला लगाना है। शुभकामनाएं!

 

अब जब आपने कमाई शुरू कर दी है, तो अभी से निवेश करना कैसे शुरू करें?

 

‍जितना जल्दी करेंगे, उतना अच्छा होगा। आपके भविष्य में आपको इसका फायदा मिलेगा। अगर आप डिजिटल गोल्ड में सेविंग और निवेश करने में रूचि रखते हैं, तो इस अर्टिकल को देखें।

 

Subscribe to our newsletter
Thank you! Your submission has been received!
Oops! Something went wrong while submitting the form.